What is SEO ? A Complete Guide to Search Engine Optimization 

Introduction SEO

SEO  यह Process है जिसके माध्यम से आप कुछ Keyword के माध्यम से अपनी वैबसाइट को Search  Engine मे Rank करते है

History SEO

SEO सन 1991 मे आया ओर उसी समय पहली वैबसाइट बनी थी ओर कुछ समय बाद ही बहुत सारी वैबसाइट इंटरनेट पर गई आज आप बहुत आसानी से कोई भी वैबसाइट को इंटरनेट पर देख सकते हो मगर उस समय ऐसा बिलकुल नहीं था क्यूकि user को पता नहीं होता था कोनसी वैबसाइट कोनसे niche पर है user को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता था उस समय जरूरत थी structure की जो user की परेशानी को दूर कर सके मगर जो रियल गेम था वो 1996 मे गूगल के आने के बाद हुआ गूगल ने काम क्या Qualit, Relevancy, content के उपर



What is SEO ? A Complete Guide to Search Engine Optimization
What is SEO ? A Complete Guide to Search Engine Optimization 



On Page SEO

दोस्तो मे आपको बता देना चाहता हु की On Page SEO पूरा का पूरा आपके हाथ मे होता है इसके कुछ काम है जो की एक बार किए जाते है मगर कुछ काम  ऐसे होते है जो की हमको हर content को पोस्ट करते वक्त ध्यान रखने होते है

1 Website should be crowlable
2 User friendly url
3 Targeted Content
4 Keyword Optimazation
5 Websirte optimization
6 HTTPS
7 Image optimization
8 Readibility & UX
9 Mobile friendly website
10 Outbound link
11 Website stcucture and CTR

Google search console

Google Search Console एक गूगल का टूल है जसे की आप कोई न्यू वैबसाइट बनाते हो तो गूगल को कसे पता चलेगा की आपकी वैबसाइट किस niche पर है तो दोस्तो आपको अपनी वैबसाइट गूगल के Google Search Console से add करने होती है गूगल उस की मदद से आपकी वैबसाइट को crawl पर लेता है उसके 
माध्यम से आपकी वैबसाइट की सभी इन्फॉर्मेशन गूगल को मिलती रहती है

Keyword In SEO

Keyword आपके पोस्ट को rank करने मे मदद करते है अगर आप अपनी पोस्ट  मे main keyword जिसपे आप अपनी पोस्ट को रेंक करना चाहते हो आपको यह keyword बहुत अच्छी तरह से use करना आना चाहिए यह keyword ही आपकी पोस्ट रेंक करने मे मदद करेंगे इससे आपका On Page SEO अच्छा होता है

Title in SEO

हमको अपनी पोस्ट का Title Unique रखना चाहिए ओर आपका  main keyword Title के दूसरे या तीसरे वर्ड मे आना चाहिए आप अपने Title मे नंबर का use कर सकते हो मगर आपको ध्यान रखना है की आपका Title ज्यादा बड़ा नहीं होना चाहिए

Description in SEO

Description हमेशा 135 या 150 वर्ड  का होना चाहिए ओर आपका Description मे Quality Content होना चाहिए यह छोटी छोटी सी बाते आपकी पोस्ट का On Page SEO अच्छा करती है आप अपने मैन Keyword Description ओर URL मे भी use कर सकते हो

Google analytics account

आपको अपनी वैबसाइट का SEO अच्छा करने के लिए Google analytics account बनाना होता है ओर उसके html url को आपको अपनी वैबसाइट के head सेक्शन मे डालना होता है Google analytics account से आप अपनी वैबसाइट के visitors को देख सकते हो ओर पता कर सकते हो की हमारी वैबसाइट पर user कहा से ओर कसे आ रहे है इसमे आपको अपनी वैबसाइट के ट्राफिक की सारी इन्फॉर्मेशन मिल जाती है


Mobile Friendly Website

आपकी वैबसाइट मोबाइल फोन मे बहुत आसानी से खुलनी चाहिए क्युकि हर वक्ती किसी भी चीज़ की जानकारी अपने मोबाइल से seach करके लेता है क्यूकी आज  मोबाइल सभी use करते है ओर देखा जाता है की सबसे ज्यादा ट्राफिक वैबसाइट के उपर मोबाइल के जरिये ही आता है  इसलिए आपकी वैबसाइट मोबाइल फोन मे अच्छे से खुले आपको इस बाद का ध्यान रखना है

H1 Tag for SEO

आपकी पोस्ट मे H1 Tag बहुत भूमिका निभाता है क्यूकी H1 Tag ही गूगल के clawler को बताता है की आपकी पोस्ट मे क्या है आपको अपनी पोस्ट मे H1 Tag जरूर डालना चाहिए H1 Tag के अंदर हमेशा आपका मैन keyword आना चाहिए ओर ध्यान दे की आपकी पोस्ट मे सिर्फ एक ही H1 Tag होना चाहिए

Cononical Tags for SEO

Canonical Tags हमको हमारी वैबसाइट पर एक जसे दो content को पता करने मे मदद करता है यह गूगल के crawler को हिंट देता है यह हमारा ड्यूप्लिकेट पोस्ट है मगर इसका ओरिगनल पोस्ट यह है

Robots.Txt File

Robots.txt का प्रयोग हम अपनी वैबसाइट के सभी पोस्ट को crawel करने के लिए करते है यह crawler को बताता है की हमारी वैबसाइट के यह सभी पोस्ट आपको हमारे user को देखनी है ओर Robots.txt से हम कुछ page को ब्लॉक भी कर सकते है की यह page हमारे शो ना किए जाए

SEO Friendly URL

आपकी पोस्ट का URL SEO Friendly होना चाहिए जसे की आपके कोई keyword है यह आपकी पोस्ट के URL मे होने चाहिए एक ओर आपकी पोस्ट के टाइटल मे  भी  आपका URL होना चाहिए आपको  Parmalick का प्रयोग करना चाहिए SEO Friendly URL बनाने के लिए

Alt Text in Seo

अगर किसी भी वजह से आपकी image लॉर्ड नहीं होती है तो उस जगह पर आपका alt text देखाई देता है जसे की आप जानते हो की गूगल के crawler को image को crawel करने मे परेशानी होती है तो यह atl text के माध्यम से image को crawel करता है

SSL Certificates in SEO

दोस्तो मे आपको बता देना चाहता हु की 6 aug 2014 को गूगल ने एक बात कही थी की अगर अपनी वैबसाइट का SSL Certificates है तो आपको extra benefits मिलने वाला है SEO के अंदर  ओर जिन वैबसाइट के  Domain मे  SSL Certificates है उसकी वैबसाइट की रंकिंग हमेशा उपर रहती है

Searchers Intent

दोस्तो हमको इस बात का ध्यान देना चाहिए की हमारी वैबसाइट पर आने वाला user पहले वो गूगल पर quary करता है ओर हमको यही ध्यान देना है की user की quary के हिसाब से हमारी वैबसाइट पर content होना चाहिए जिसमे की हम उसकी quary का ध्यान रख सके हमारे जीतने भी keyword है हमको उन सभी से related content अपनी वैबसाइट पर रखना है


Link Building & Link Earning

इस दोनों मे कोइ बहुत ज्यादा फर्क नहीं है अब हमको यह ध्यान देना है की हमको अपने लिंक Building को लिंक Earnig की तरफ ले जाना चाहिए ओर लिंक earn करने के लिए हमको नैचुरल तरीके अपनाने चाहिए

Link building             Link Earning  

1 Building link           Content curation
2 Article submission     Guest Blogging
3 Spamy email          Personalized email outreach
4 Reciprocal             Building partnerships

तो दोस्तो हमको लिंक earning मे ध्यान देना है तो की आधिक समय के लिए होती है


Link Value In SEO


1 किसी वैबसाइट की link Value अच्छी है ओर अगर वह वैबसाइट किसी को link देती है तो उसके link value ज्यादा होती है

2 आपको अगर main content link मिलता है तो उस case मे भी link की value ज्यादा होगी

3 आपको अगर न्यू domain से link मिल रहा है तो उस link की value ज्यादा होगी

4 हमेशा external link ज्यादा वैल्यू वाले होते है

5 आपको अगर trusted वैबसाइट से link मिलता है तो उसकी वैल्यू भी ज्यादा होती है

एक बात आपको हमेशा ध्यान रखनी है अगर अपने backlink बनाए ओर आपकी वैबसाइट की rank 1 हो जाती है ओर यह लिंक remove भी हो जाते है तो तब भी आपकी वैबसाइट rank 1 पर होगी कुछ समय तक

What is E-A-T In SEO

यह  Expertise authority trust है मे आपको बता देना चाहता हु आने वाले समय मे E-A-T बहुत प्रयोग होने वाला  है क्योकि इसमे सीधे सीधे वैबसाइट के author के बारे मे बात होती है अगर आप Digital Marketing के बारे मे जानते हो तो आप डिजिटल मार्केटिंग के बारे मे ही और्टिकल लिख सकते हो ओर अगर आप किसी ओर niche के बारे मे लिखते हो तो गूगल आपकी वैबसाइट को ज्यादा महतव नहीं देगा गूगल E-A-T की मदद से author की डिटेल्स निकलता है वो देखता है की author इस लायक है या नहीं तो दोस्तो आपको अपना BIO अच्छा करना है

Pogostiking

जब कोई user आपकी वैबसाइट पर आता है तो उसको सबसे पहले आपका title Description देखता है यह title पर क्लिक करता है  ओर कुछ समय बाद वापस हो जाता है  आपके लैंडिंग page से तो दोस्तो इसी को Pogostiking कहते है


दोस्तो आशा करता हु आपको SEO के बारे मे जानकारी मिल गयी होगी अगर SEO या Digital Marketing के बारे मे ओर भी जानकारी चाहिए तो आप हमारी वैबसाइट या पेज को Follow कर सकते है बाकी  पोस्ट
को देखने के लिए यहा क्लिक करे 
ध्न्यवाद ,